EDTA Full Form in Hindi – EDTA क्या है और इसका क्या उपयोग है?

EDTA क्या है
3.7/5 - (8 votes)

रसायन विज्ञान में बहुत से ऐसे पदार्थ हैं जिन के विषय में हमें बहुत ही कम जानकारी प्राप्त होती है। ऐसा ही एक पदार्थ है EDTA, जो की एक शंकर योगिक होता है। यदि आप केमिस्ट्री के छात्र रहे होंगे तो आप ही EDTA के बारे में थोड़ा बहुत परिचित अवश्य होंगे। परंतु आज का आर्टिकल EDTA Full Form in Hindi अंत तक पढ़ने के पश्चात आपको इसके बारे में बहुत हद तक एक अच्छी जानकारी प्राप्त हो जायेगी। यह compound हमारे लिए अत्यंत उपयोगी है क्युकी शरीर में कुछ रोगों में इसका प्रयोग देखने को मिलता है। अपनी जिज्ञासाओं को यही तक सीमित मत रखिए, इस लेख को अंत तक जरूर पढ़िए।

दोस्तों हम आज जिन महत्वपूर्ण प्रश्नों की चर्चा करेंगे व विज्ञान वर्ग के छात्रों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। क्युकी आप यहां ये जानेंगे की रसायन शास्त्र में EDTA क्या है, EDTA Full Form in Hindi, EDTA क्या है, EDTA का औषधियों या दवा के रूप में किस प्रकार इस्तेमाल किया जाता है। इसके सेवन से क्या दुष्परिणाम भी हो सकते हैं। इसकी भौतिक विशेषताएं क्या हैं। हिंदी में EDTA का पूरा नाम एवं संरचना सूत्र क्या होता है। इन सभी महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर जानने के लिए आपको बस हमारे आर्टिकल को अंत तक पढ़ना है। क्योंकि यह सभी प्रश्न हमने अपने आज के लेख में बहुत ही सरल भाषा में समझाने का प्रयास किया है।

EDTA Full Form in Hindi क्या होती है?

क्या आप जानते हैं कि EDTA Full Form in Hindi एथिलीन डायमीन टेट्रा एसेटिक एसिड (Ethylenediaminetetraacetic Acid) होती है। यह एक संकुल यौगिक है। इसकी डेंटिसिटी 6 होती है, जिस कारण इसे hexadentate ligand कहते हैं।

रेडॉक्स अभिक्रिया किसे कहते हैं?

EDTA का क्या मतलब होता है?

यह एक एसिड होता है जिसका रंग सफेद होता है और  यह एक प्रकार का ठोस पदार्थ होता है जो पानी में आसानी से घुल जाता है। इसका अधिकतर प्रयोग लाइमस्केल को भंग करने में किया जाता है। EDTA का सूत्र [CH2N (CH2CO2H)2]2 होता है। इस संकुल सूत्र को संक्षेप में C10H16N2O8 भी लिखा जा सकता है। इस पदार्थ का संश्लेषण सन 1935 में सर्वप्रथम वैज्ञानिक फर्डिनेंड मुन्ज के द्वारा प्रयोगशाला में किया गया था।

यह एक बेरंग पदार्थ होता है। यह क्रस्टल की फॉर्म में पाया जाता है। यह एक कार्बनिक पदार्थ है अतः थोड़ा घुलनशील भी होता है। EDTA से संबंधित और अधिक जानकारी हम आगे अपने आर्टिकल EDTA Full Form in Hindi में साझा कर रहे हैं, अतः आप अपना सहयोग बनाए रहे और इस लेख से महत्वपूर्ण जानकारी को अर्जित करें।

EDTA की भौतिक विशेषताएं क्या हैं?

बाहरी रूप से देखने पर यह एक सफेद प्रकार का क्रिस्टलीय ठोस पदार्थ होता है जो कि जल में घुलनशील होता है। एथिलीन डायमिन टेट्रा एसिटिक एसिड का अणु भार 292.244g प्रति मोल होता है। इस पदार्थ का घनत्व 20 डिग्री सेल्सियस पर 0.860g प्रति cm3 होता है। इसकी standard enthalpy of combustion का मान −4461.7 to −4454.5 kJ mol-1 तथा standard enthalpy of formation का मान −1765.4 to −1758.0 kJ mol-1 होता है।

अपने आर्टिकल EDTA Full Form in Hindi के माध्यम से अभी तक आपने जाना की EDTA का पूरा नाम क्या है। अब आप अगले पैराग्राफ में जानेंगे की EDTA का उपयोग क्या है।

EDTA का उपयोग क्या है?

यह एक बहुत महत्वपूर्ण पदार्थ है, जिसके बहुत से लाभकारी उपयोग हैं। EDTA के कुछ प्रमुख उपयोग निम्न प्रकार हैं –

  • जैव विज्ञान के अंतर्गत इसका प्रयोग विभिन्न प्रकार के एंजाइमों जो धातुओं के ऊपर निर्भर रहते हैं, को निष्क्रिय करने के लिए उपयोग किया जाता है। इसका कारण है कि EDTA धातुओं और परमाणुओं के साथ क्रिया प्रतिक्रिया अर्थात रिएक्शन कर सकता है।
  • डीएनए में होने वाली विकृति को रोकने तथा पता लगाने के लिए एथलीन डाई अमीन टेट्रा एसिटिक एसिड अर्थात EDTA का प्रयोग किया जाता है।
  • कुछ अवधारणाओं के अनुसार यह भी माना जाता है कि EDTA एंटीऑक्सीडेंट के रूप में भी कार्य करता है।
  • इसका प्रयोग खाद्य पदार्थों में किया जाता है जो कि बंद डिब्बे में बिकते हैं। इसके इस्तेमाल से खाद्य पदार्थों का रंग बरकरार बना रहता है। कई प्रकार की सलाद को ताजा रखने में भी EDTA का प्रयोग किया जाता है।

दवा के तौर पर EDTA के उपयोग क्या हैं?

जैसा कि हमने आपको आर्टिकल EDTA Full Form in Hindi में ऊपर बताया कि यह एक और महत्वपूर्ण पदार्थ है। जिस कारण इसका प्रयोग औषधि के रूप में भी किया जाने लगा है। परंतु औषधि के रूप में इसका उपयोग एक सीमित मात्रा तक ही है। तो चलिए अब जान लेते हैं कि यह किस प्रकार से एक औषधि के रूप में प्रयोग होता है –

EDTA Full Form in Hindi

  • Edta शरीर में रक्त के थक्के बनने का प्रतिरोध करता है अर्थात यदि शरीर में खून के किसी जगह पर किसी बीमारी के चलते थक्के बन रहे होंगे तो EDTA उन रक्त के थक्कों को हटाने में मदद करता है। यही कारण है कि इसका प्रयोग blood बैंकों में बहुत किया जाता है।
  • शरीर में यदि किसी स्थान पर कैल्शियम तथा शीशा तत्व की अधिकता हो जाती है या जमाव हो जाता है, तो EDTA के प्रयोग से इन दोनों प्रकार की धातुओं को body से बाहर को आसानी से निकाला जा सकता है।
  • शरीर की अन्य समस्याएं जैसे रक्तचाप, सीने में दर्द तथा त्वचा मे जलन, धड़कन में अनियमितता होना आदि होने पर भी EDTA का इस्तेमाल देखा गया है।

EDTA के साइड इफेक्ट क्या हो सकता है?

इसके उपयोग जानने के बाद अब हम बात कर लेते हैं को इसको लेने से क्या क्या दुष्परिणाम या साइड इफेक्ट्स देखने को मिल सकते हैं। अतः इसका प्रयोग हमेशा डॉक्टर की सलाह से करें अन्यथा आपको इसका दुष्परिणाम भुगतना पड़ सकता है। इससे होने वाले कुछ दुष्परिणाम निम्न प्रकार हैं –

  • इसके प्रयोग से आपकी त्वचा में आपको लाल चकत्ते देखने को मिल सकते हैं।
  • आपको जी मिचलाने और उल्टियां होने जैसी शिकायत का सामना करना पड़ सकता है।
  • Edta के अधिक प्रयोग से सिरदर्द और दस्त की शिकायत हो सकती है।
  • इस EDTA के इंजेक्शन लगाने से संबंधित स्थान पर सूजन और लाल लाल घेरा देखने को मिल सकता है।
  • इसका इंजेक्शन लेने के पश्चात रक्तचाप में कमी हो जाती है और चक्कर आने जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

pH Full Form in Hindi

निष्कर्ष

EDTA एक बहुत महत्वपूर्ण पदार्थ है और EDTA का उपयोग सीमित होने के बावजूद भी अन्य पदार्थों से भिन्न है। हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण आर्टिकल EDTA Full Form in Hindi में जाना की रसायन शास्त्र में EDTA क्या है, EDTA का उपयोग क्या है तथा EDTA का सूत्र भी जाना। इसके अलावा EDTA का पूरा नाम एवं संरचना सूत्र पर भी आर्टिकल के शुरुआत में विशेष ध्यान दिया। अब यदि आपके मन में कोई भी प्रश्न या इस आर्टिकल से संबंधित कोई भी सुझाव हो तो आप हमें कमेंट सेक्शन में अपनी राय दे सकते हैं।

SOCIAL SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *