हाइड्रोजन का सूत्र क्या है? Chemical Formula of Hydrogen

हाइड्रोजन का सूत्र
3.4/5 - (5 votes)

कैसे हैं दोस्तों आप सभी लोग। आपका एक बार फिर से हमारे केमिस्ट्री के इस ब्लॉग में स्वागत है। आज हम आपको बताएंगे कि हाइड्रोजन का सूत्र क्या होता है। हाइड्रोजन तत्व गैस के बारे में ज्यादातर सभी लोगों ने सुना ही होगा परंतु इसके बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आपको हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ना होगा। हाइड्रोजन एक प्रकार का तत्व है जिसके दो अणु मिलकर हाइड्रोजन गैस का निर्माण करते हैं। जीवन चलाने के साथ-साथ अन्य कार्य में भी यह बहुत उपयोगी है। हमारी आकाशगंगा में उपस्थित तारे और सूर्य इसी गैस से मिलकर बना है। चलिए अब वह प्रश्नों को नजर डाल लेते हैं जो हम आज के आर्टिकल में आपको बताएंगे।

आज हम आपको हाइड्रोजन का सूत्र से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न बताएंगे जैसे कि chemical formula of hydrogen। हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की कक्षाओं में ऐसे प्रश्न बहुत पूछे जाते हैं की हाइड्रोजन का सूत्र क्या है, हाइड्रोजन कितने प्रकार का होता है आदि। इस लेख के अंतर्गत हम आपको ट्रिटियम ड्यूटेरियम और protium के बारे में भी विस्तार से जानकारी देंगे। तो चलिए शुरू करते हैं अपना आज का यह महत्वपूर्ण लेख कि बिना कोई देर किए।

ग्लूकोज का सूत्र क्या है?

हाइड्रोजन क्या है और हाइड्रोजन का सूत्र क्या है?

Hydrogen एक तत्व है जिसका परमाणु क्रमांक एक होता है। यह एक गैसीय द्रव होता है। इसमें ना किसी प्रकार की गंध होती है ना किसी प्रकार का स्वाद होता है और ना ही किसी प्रकार का रंग यह दिखाता है। अर्थात यह रंगहीन, गंधहीन और स्वादहीन है। हाइड्रोजन का सूत्र H होता है। हाइड्रोजन के परमाणु भार की बात करें तो इसका मान 1.0008 होता है। आवर्त सारणी में हाइड्रोजन तत्व को प्रथम स्थान दिया गया है।

चलिए आपको इसकी खोज कर्ता के बारे में बताते हैं कि इसकी खोज वैज्ञानिक हेनरी कैविनडिश ने 1766 में की थी। इसके पश्चात सन 1783 में वैज्ञानिक लेवाशियर ने इसका नाम हाइड्रोजन रख दिया।

हाइड्रोजन तत्व के अंदर एक इलेक्ट्रॉन तथा एक प्रोटोन होता है। इसमें न्यूट्रॉन नहीं पाया जाता है। जब इसके दो परमाणु आपस में क्रिया करते हैं तब हाइड्रोजन गैस का अणु बनाते हैं।

हाइड्रोजन की विशेषताएं

चलिए अब अपने इस आर्टिकल हाइड्रोजन का सूत्र बताइए के अंतर्गत आपको इसके कुछ मुख्य विशेषता बताते हैं जो इसे अन्य तत्वों से अलग करती है।

हाइड्रोजन एक रंग हीन, गंध हीन तथा स्वाद हीन गैस होती है। यह अत्यधिक क्रियाशील होने के कारण बहुत ज्वालन शील भी होती है। ऑक्सीजन के साथ मिलकर यह देश बहुत ऊर्जा के साथ जलती है और जब यह जलती है तो इसकी लौ (Flames) दिखाई नही देता है। हाइड्रोजन और ऑक्सीजन की क्रिया के पश्चात एक अन्य पदार्थ बाय प्रोडक्ट के रूप में बनता है जिसे जल कहा जाता है। नार्मल टेंपरेचर पर यह गैस (gas) रूप में होती है। परंतु यदि इस तापमान को बदलकर -259.14 डिग्री सेल्सियस कर दें तो यह द्रवित हो जाती है।

हाइड्रोजन के प्रकार

अब अपने इस लेख हाइड्रोजन का सूत्र क्या है के अंतर्गत आपको इसके प्रकार बताते हैं। तो हाइड्रोजन निम्नलिखित तीन प्रकार का होता है –

प्रोटियम (Protium)

यह हाइड्रोजन का सबसे सामान्य अणु होता है बहुत प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इस अणु के भीतर केवल एक इलेक्ट्रॉन तथा एक प्रोटॉन उपस्थित होता है। इसमें कोई भी न्यूट्रॉन उपलब्ध नहीं होता है। 

ड्यूटेरियम (Deuterium)

सामान्य हाइड्रोजन अणु के में 0.002 percent ड्यूटेरियम भी पाया जाता है। यह अणु सामान्यता स्थिर रहता है तथा इसकी खोज वैज्ञानिक हेरोल्ड उरे ने सन 1932 में की थी। इस अणु की खास बात यह है कि इसमें प्रोटीन और इलेक्ट्रॉन के अलावा न्यूट्रॉन भी पाया जाता है। जिस कारण इसका भार साधारण हाइड्रोजन परमाणु की तुलना में दोगुना होता है। इसी विशेषता के कारण इसे को भारी हैड्रोजन भी कहते हैं और यह ऑक्सीजन से अभिक्रिया करके भारी जल (D²O) का निर्माण करता है। 

ट्रिटियम (Tritium)

इस तत्व में रेडियोएक्टिवता का गुण होता है जिस कारण यह बहुत कम मात्रा में उपस्थित होता है। इस तत्व में एक इलेक्ट्रॉन तथा एक प्रोटॉन और दो न्यूट्रॉन उपस्थित होते हैं। साधारण हाइड्रोजन तत्व की तुलना में 3 गुना भारी होता है और इसकी खोज सन 1934 में की गई थी। हाइड्रोजन का यह अणु स्थाई नहीं होता है।

hydrogen ka sutra

ब्रह्मांड में हाइड्रोजन कहाँ मिलता है?

हाइड्रोजन एक ऐसा तत्व है जो ब्रह्मांड में सबसे अधिक मात्रा में पाया जाता है। दोस्तों आपको जानकर हैरानी होगी कि हमारे सौरमंडल में जितने भी तारे और सूर्य हैं वह सब हाइड्रोजन से मिलकर ही बने हैं बने हैं। हमारे ब्रह्मांड का लगभग 75% भाग भार अनुसार हाइड्रोजन से मिलकर बना हुआ है। हमारे पृथ्वी के आसपास जितने भी हाइड्रोजन के मात्रा पाई जाती हैं वह सब योगीको के साथ मिली हुई होती है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि यह बहुत हल्की गैस होती है जिस कारण पृथ्वी के आसपास नहीं रुक पाती है।

पृथ्वी पर हाइड्रोजन गैस या हाइड्रोजन के अणु जल के रूप में पाया जाते है। मित्रों यह तो आपको पता ही होगा कि जल के एक अणु में हाइड्रोजन के दो परमाणु पाए जाते हैं।

कार्बन क्या है?

हाइड्रोजन के उपयोग

अब अपने इस आर्टिकल हाइड्रोजन का सूत्र बताओ के अंतर्गत आपको Hydrogen in hindi के उपयोग बताने जा रहे हैं। ये उपयोग निम्न प्रकार हैं –

  • हाइड्रोजन गैस मानव के साथ अन्य जीव-जंतुओं के लिए बहुत उपयोगी गैस है इसके अभाव में जीवन की कल्पना करना भी मुश्किल है।
  • यह हाइड्रोजन गैस ऑक्सीजन गैस के साथ क्रिया करके जल का निर्माण करती है। और यह आप सभी को पता ही होगा कि जल जीव जंतुओं के लिए कितना उपयोगी है उनके जीवन का आधार है।
  • इसका उपयोग कई प्रकार के कार्बनिक पदार्थ बनाने में किया जाता है जैसे कि मेथेनॉल इथेनॉल आदि।
  • कांच उद्योग में हाइड्रोजन का प्रयोग बहुत किया जाता है। नाइट्रोजन और हाइड्रोजन की आपसी क्रिया से कांच की प्लेट बनाई जाती है।

Chemical Formula of Hydrogen

निष्कर्ष

हमारे इस लेख को पड़ने के पश्चात आपने हाइड्रोजन के बारे में एक बहुत अच्छी जानकारी प्राप्त की होगी। दोस्तों आज आपने जाना कि हाइड्रोजन का सूत्र क्या है और हाइड्रोजन का क्या उपयोग है। यदि इस आर्टिकल से संबंधित आपके मन में कोई प्रश्न बाकी है तो आप हमें कमेंट सेक्शन के माध्यम से पूछ सकते हैं। बहुत जल्द मिलेंगे एक नए आर्टिकल के साथ।

SOCIAL SHARE

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *