नाइट्रोजन चक्र क्या है? परिभाषा, महत्व, विशेषताएं (Nitrogen Cycle Diagram)

नाइट्रोजन चक्र क्या है
2.9/5 - (8 votes)

आज के इस आर्टिकल में हम आपको नाइट्रोजन चक्र क्या है? या नाइट्रोजन चक्र की परिभाषा, महत्व क्या हैं तथा नाइट्रोजन चक्र की विशेषताएँ क्या होती हैं इसके बारे में बताएँगे। नाइट्रोजन चक्र कहते हैं? यह एक महत्वपूर्ण टॉपिक है इस महत्वपूर्ण टॉपिक के बारे में केमिस्ट्री से संबंधित सभी लोगो को पता होना चाहिए क्योंकि इस महत्वपूर्ण टॉपिक के बारे में ज्यादातर परीक्षाओं में पूछ लिया जाता है।

इस आर्टिकल से पहले आर्टिकल में हमने आपको ग्रीन हाइड्रोजन क्या है? इसके बारे में विस्तार के साथ बताया। ग्रीन हाइड्रोजन एक महत्वपूर्ण टॉपिक है यदि आपने अभी तक ग्रीन हाइड्रोजन क्या है? इसके बारे में नहीं पड़ा है तो आप हमारी इस वेबसाइट से इस टॉपिक के बारे में पढ़ सकते हैं। आज के इस आर्टिकल में हम आपको नाइट्रोजन चक्र किसे कहते हैं? इसके महत्व क्या हैं और इसकी विशेताएँ कौन कौन सी हैं इसके बारे में बताने वाले हैं। तो बिना किसी देरी के आइए जानते हैं नाइट्रोजन चक्र क्या है? इसके बारे में।

इलेक्ट्रॉनिक विन्यास किसे कहते हैं?

नाइट्रोजन चक्र की परिभाषा

नाइट्रोजन चक्र एक भू रासायनिक प्रक्रिया के रूप में जाना जाता है। जो निष्क्रिय नाइट्रोजन को अधिक उपयोगी रूप से जीवित जीवो के लिए अधिक उपयोगी रूप में परिवर्तित कर देती है। पेड़ पौधे और जंतु नाइट्रोजन का सीधा उपयोग नहीं कर सकते हैं। ये नाइट्रोजन जंतुओं तथा पौधो दोनों के लिए एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व है इसका उपयोग प्रोटीन, एंजाइम, नाइट्रोजन, एटीपी के निर्माण के लिए किया जाता है। यह एक जैव रासायनिक चक्र है जिसमें नाइट्रोजन का विभिन्न रासायनिक रूप में परिवर्तन होता है जब यह पृथ्वी के वायुमंडल में घूमती है।

नाइट्रोजन चक्र में आने वाले महत्वपूर्ण प्रक्रम

इससे ऊपर के आर्टिकल में हमने आपको नाइट्रोजन चक्र क्या है? इसके बारे में विस्तार के साथ बताया है अब हम आपको नाइट्रोजन चक्र में आने वाले महत्वपूर्ण प्रक्रम के बारे में विस्तार के साथ बताने वाले हैं। दो बिना किसी देरी के आइए जानते हैं नाइट्रोजन चक्र के महत्वपूर्ण प्रक्रम के बारे में।

  • नाइट्रोजन स्थिरीकरण
  • नाइट्रीकरण
  • स्वांगीकरण
  • अमोनीकरण
  • विनाइट्रीकरण।

नाइट्रोजन स्थिरीकरण

नाइट्रोजन का स्थिरीकरण नाइट्रोजन चक्र का शुरू का प्रक्रम है। इस प्रक्रम का असल में मकसद नाइट्रोजन को स्थिर करना होगा है। हमारी पृथ्वी पर बहुत सारी नाइट्रोजन उपस्थित है जिसे N2 के रूप में जाना जाता है अर्थात नाइट्रोजन का प्रतीत N2 होता है। नाइट्रोजन स्थरीकरण एक महत्वपूर्ण प्राकृतिक प्रक्रिया है जिसमें वायु मंडल में मौजूद नाइट्रोजन गैस को पौधो और जीवो के लिए उपयोगी रूप से परिवर्तित किया जाता है यह प्रक्रम नाइट्रोजन यौगिकों को पौधों के लिए उपयोगी बनता है जो उनके विकास और प्रगति के लिए महत्वपूर्ण होते हैं।

नाइट्रोजन स्तरीकरण की प्रक्रिया के द्वारा नाइट्रोजन गैस को परिवर्तित करके यौगिकों में उपलब्ध कराया जाता है जो पौधों के विकास और जीवन के जीवन के लिए आवश्यक होते हैं। यह प्रक्रिया पृथ्वी की परिस्थिति के लिए भी महत्वपूर्ण होती है। क्योंकि यह प्रक्रिया वनस्पतियों की वृद्धि और उनके खाद्य स्त्रोंतों को सुनिश्चित करने में मदद करता है।

नाइट्रीकरण

इस प्रक्रम में अमोनिया के ऑक्सीकरण से नाइट्राइट (NO2) और नाइट्रेट (NO3) का निर्माण होता है। क्योंकि अमोनिया (NH3) काफी जीवों के लिए जहरीली होती है। यह प्रक्रिया मूल रूप से जल में होती है। बिजली के कड़कने से भी वयुमंदालीय नाइट्रोजन गैस (N2) , अमोनिया (NH3) नाइट्रेट (NO3) में परिवर्तित हो जाती है। इस प्रक्रिया में मिट्टी में बक्टेरिया की उपस्थिति से अमोनिया नाइट्रेट में परिवर्तित हो जाता है। नाइट्रोसोमोनस बैक्टेरिया की मदद से अमोनिया के ऑक्सीकरण के द्वारा नाइट्राइट बनते हैं।

स्वांगीकरण

बैसे स्वांगीकरण का अर्थ होता है स्वीकार कर लेना अपना अंग बना लेना तो यह वैसे नाइट्रोजन का स्वांगीकरण जो टॉपिक है तो इस प्रक्रम में  नाइट्रोजन के रूप होते हैं जैसे अमोनिया, अमोनियम, नाइट्रेट तथा नाइट्राइट है इन्हें पादप मिट्टी में से अपने अन्दर ग्रहण कर लेते हैं और बाद में उनसे ही पादपों के प्रोटीन या जंतुओं में जो प्रोटीन होते हैं वह बनते हैं इसीलिए अगर हम देखें दालों वाले पेड़ पौधों में यह ज्यादा होता है तो उनसे हमें प्रोटीन बहुत ज्यादा मिलता है।

अमोनीकरण

अमोनीकरण एक प्रकार की जैविक प्रक्रिया है इस प्रक्रिया में जब कार्बनिक पदार्थ जैसे पौधो या प्राणियों का मृत शरीर बैक्टेरिया और फंगस के कारण विघटित हो जाता है तो ये सूक्ष्म जीव उसको अमोनिया में बदल देते हैं इस प्रक्रिया में कार्बनिक नाइट्रोजन को तोडा जाता है और इस प्रकार अमोनिया का निर्माण हो जाता है जो पौधों के लिए पोषण स्त्रोत के रूप में काम आता है।

विनाइट्रीकरण

वह प्रक्रिया जिसमें नाइट्रेट पुनः वायुमंडल यह नाइट्रोजन में परिवर्तित कर दी जाती है। ऐसा कुछ विइट्रीकरण बैक्टेरिया अवायवीय स्थिति में नाइट्रेट की ओक्सिगें उपयोग करने के लिए करते हैं।

Nitrogen Chakra kya Hai
Nitrogen Chakra kya Hai

वायु प्रदूषण क्या है

नाइट्रोजन चक्र के महत्व

इससे ऊपर के आर्टिकल में हमने आपको नाइट्रोजन चक्र क्या है? इसके बारे में विस्तार के साथ बताया है अब हम आपको नाइट्रोजन चक्र के महत्व के बारे में बताते हैं। नाइट्रोजन चक्र के महत्व निम्नलिखित हैं।

  • नाइट्रोजन चक्र पौधों की वृद्धि के लिए नाइट्रोजन प्रदान करता है तथा पौधों के लिए पोषक तत्व प्रदान करता है। नाइट्रोजन चक्र नाइट्रोजन को ऐसे रूप में पौधो को प्रदान करता है जिसका उपयोग बहुत पौधे बहुत आसानी से कर सकें।
  • यह मिट्टी की उर्वरता को बनाए रखने में मदद करता है। नाइट्रोजन चक्र नाइट्रोजन को दोबारा मिट्टी में मिलने के लिए प्रेरित करता है जिससे इसका उपयोग पौधे कर सकें।
  • विश्व की जलवायु को विनियमित करने में मदद करता है तथा नाइट्रोजन चक्र वायुमंडल में नाइट्रोजन को हटाने में भी मदद करता है। जिससे इसका उपयोग पौधे द्वारा किया जा सकता है।
  • यह वायुमंडल को स्वच्छ रखने में भी मदद करता है यह मरे हुए कार्बनिक पदार्थों को भी गठित करने में मदद करता है जिससे प्रदूषण को कम करने में मदद मिलती है और पर्यावरण स्वच्छ रहता है।

हाइड्रोजन बंध क्या है?

नाइट्रोजन चक्र की विशेषताएं

इससे ऊपर के आर्टिकल में हमने आपको नाइट्रोजन चक्र क्या है? इसके बारे में विस्तार के साथ बताया है अब हम आपको नाइट्रोजन चक्र की विशेषताएं के बारे में बाते हैं नाइट्रोजन चक्र की विशेषताएं निम्नलिखित हैं।

  • यह एक जैविक भू रासायनिक चक्र होता है इसे हम इस प्रकार समझ सकते हैं कि इसमें प्राणी के भौतिक और जैविक घटकों के माध्यम से नाइट्रोजन की गति शामिल है।
  • यह एक चक्रीय प्रक्रिया है जिसे हम इस प्रकार समझ सकते हैं कि नाइट्रोजन का विभिन्न रूपों के बीच पुनर्चक्रण होता रहता है।
  • यह पृथ्वी पर जेवन के लिए आवश्यक है क्योंकि नाइट्रोजन सभी जीवित जीवों के लिए एक आवश्यक पोषक तत्व है।
  • यह एक प्रकार की जटिल प्रक्रिया है जिसमे विभिन्न प्रकार के जीव और रासायनिक प्रक्रियाएं शामिल होती हैं।
नाइट्रोजन चक्र की विशेषताएं
नाइट्रोजन चक्र की विशेषताएं

अक्सर पूछे गए प्रश्न (FAQs)

प्रश्न – नाइट्रोजन क्या कार्य करती है?

उत्तर – नाइट्रोजन का मुख्य उपयोग नाइट्राइड, कैल्शियम साइनेमाइड और अमोनिया आदि के निर्माण के लिए किया जाता है।

प्रश्न – हवा में नाइट्रोजन इतना क्यों है?

उत्तर – नाइट्रोजन वायुमंडल में स्थिर होती है ये गैसों से क्रिया नहीं करती है जिस कारण हवा में नाइट्रोजन को हम अधिक मात्रा में जानते हैं।

बफर विलयन किसे कहते हैं

निष्कर्ष

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको नाइट्रोजन चक्र क्या है नाइट्रोजन चक्र की परिभाषा क्या है, नाइट्रोजन चक्र की विशेषताएँ तथा नाइट्रोजन चक्र के महत्व के बारे में विस्तार के साथ बताया है। आशा करता हूँ आपको नाइट्रोजन चक्र क्या है इससे सम्बंधित यह जानकारी पसंद आयी होगी । यदि आपको नाइट्रोजन चक्र से सम्बंधित यह जानकारी पसंद आयी हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। इसी प्रकार के महत्वपूर्ण टॉपिक की जानकारी पाने के लिए जुड़े रहिए “हिंदी केमिस्ट्री” वेबसाइट के  साथ तब तक के लिए धन्यवाद।

SOCIAL SHARE

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *